7 अग॰ 2010

आज की बात

बारिश में हम खूब खेलते थे पर आज बचंचे स्कूल की किताबो में, होमेवोर्क निपटाने में व्यस्त हैं। या फिर टीवी में चिपक हैं। अपनी बात कहने और लिखने में आज क बच्चे न तो रूचि दिखाते हे न ही इस और किसी का ध्यान हे। आने वाला कल केसा होगा? जरा सोचिये!

1 टिप्पणी:

  1. -भारत में हर चौथी अविवाहित नवयुवती यौनक्रिया में सक्रिय है. लेकिन इनमें से सिर्फ़ सोलह प्रतिशत निरोधक का इस्तेमाल करतीं हैं.
    क्या हो रहा है समाज को?

    उत्तर देंहटाएं

यहाँ तक आएँ हैं तो दो शब्द लिख भी दीजिएगा। क्या पता आपके दो शब्द मेरे लिए प्रकाश पुंज बने। क्या पता आपकी सलाह मुझे सही राह दिखाए. मेरा लिखना और आप से जुड़ना सार्थक हो जाए। आभार! मित्रों धन्यवाद।