11/05/2013

कठिन से कठिन समस्याओं का समाधान गारंटी से

कठिन से कठिन समस्याओं का समाधान गारंटी से

यदि मैं आप से कहूं कि एक रास्ता है, जिस पर चलकर 'कठिन से कठिन सभी समस्याओं का समाधान गारन्टी से किया जाता है' तो आप हैरान  जरूर हो जाएंगे। है न? 
 
मैं खुद हैरान हूं कि भला ऐसा कैसे हो सकता है। सुबह अखबार में एक इश्तहार नत्थी मिला। जिस पर्चे में लिखा था कि कारोबार का न चलना, लाभ, हानि, नौकरी, पद, स्थान, तबादला, विवाह, सम्बन्ध, विदेश यात्रा में रूकावट वशीकरण, ऊपरी असर, जादू-टोना, किया-कराया, गन्दी हवा, देवता बन्धन, सन्तान का न होना, गृह कलेश, कन्या ही कन्या होना, मुकदमा अदालत, दवाई का असर न होना,पुराने से पुराना कष्ट आदि समस्याओं का समाधान व उपाय मन्त्र-तन्त्र द्वारा विधि पूर्वक गारन्टी से किया जाता है। बाकायदा मोबाइल नम्बर पर्चे मे छपा है। मिलने का स्थान एक होटल है। हर दिन मिलें। ऐसा लिखा गया है। ये सब ज्योतिष विद्या द्वारा चमत्कार के रूप में किया जाएगा। 
 
 
मैंने पर्चे को दो बार पढ़ा। हंसी आ गई। दुख भी हुआ और गुस्सा भी आया। इस इक्कीसवीं सदी में भी कुछ लोग ठग विद्या से दूसरों को गुमराह कर पैसा कमा रहे हैं। सोच रहा हूं कि ये जो भी हैं। हर जगह हैं। अपना और परिवार का पेट पाल रहे हैं। अपने बच्चों को भी इसी लूट-पाट-ठगी के क्षेत्र में ले जाएंगे?
 
 काश...! इन ठगों के बच्चे भी यदि कहीं ठगे जाएं तो इन्हें पता चले कि किसी को ठगना किसी पाप से कम नहीं है। यह कहना कि इनके बच्चे भी ठगे जाएं का आशय सिर्फ इतना है कि कम से कम नई पौध इस कुत्सित कुव्यवसाय को अपना रोजगार कदापि न बनायें। 
आप क्या कहते हैं?

6 टिप्‍पणियां:

  1. आज की ब्लॉग बुलेटिन १० मई, मैनपुरी और कैफ़ी साहब - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. बहुत आभारी हूं आपका.। धन्यवाद बहुत.

      हटाएं
  2. आपकी चिंता जायज है पर सवाल यह उठता है कि जब लोग लुटने को तैयार हों तो लूटने वाला क्यों छोडेगा?

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सही कहा.. ठगना किसी पाप से कम नहीं है।

    उत्तर देंहटाएं

यहाँ तक आएँ हैं तो दो शब्द लिख भी दीजिएगा। क्या पता आपके दो शब्द मेरे लिए प्रकाश पुंज बने। क्या पता आपकी सलाह मुझे सही राह दिखाए. मेरा लिखना और आप से जुड़ना सार्थक हो जाए। आभार! मित्रों धन्यवाद।