04/01/2014

बाल कहानियों का संग्रह ‘अंतरिक्ष से आगे बचपन’

मित्रों! वैसे तो अपने बारे में बात करना अजीब-सा लगता है। लेकिन जब मन प्रसन्न हो तो उस भाव को व्यक्त कर लेना चाहिए। यही सोच कर अपने मन की प्रसन्नता बाँट रहा हूँ। 

मेरा बाल कहानियों का पहला संग्रह ‘अंतरिक्ष से आगे बचपन’ प्रकाशित हो गया है। इस संग्रह में पच्चीस बाल कहानियाँ हैं। 

पुस्तक में शामिल कहानियों के पहले पाठक प्रख्यात बाल साहित्यकार श्री रमेश तैलंग जी हैं। 

पुस्तक का मूल्य 125 रुपए है। 

आप इसे मंगा सकते हैं-  
प्रकाशक : कीर्ति नवानी, विनसर पब्लिशिंग कम्पनी, 8,प्रथम तल,के॰सी॰ सिटी सेंटर, नजदीक नया तहसील भवन, 4 डिसपेन्सरी रोड,देहरादून-248001. उत्तराखण्ड (भारत) 

वेबसाइटः www.winsar.org - 

E-mail : winsar.nawani@gmail.com 

पुस्तक का ISBN है-978-81-86844-40-3

3 टिप्‍पणियां:

यहाँ तक आएँ हैं तो दो शब्द लिख भी दीजिएगा। क्या पता आपके दो शब्द मेरे लिए प्रकाश पुंज बने। क्या पता आपकी सलाह मुझे सही राह दिखाए. मेरा लिखना और आप से जुड़ना सार्थक हो जाए। आभार! मित्रों धन्यवाद।