18/03/2012

gazal............आता तो होगा।


 कभी आँखों के सामने मेरा चेहरा आता तो होगा।
आपके अपनों में कभी ज़िक्र हमारा आता तो होगा।।

भुला दो मुझको मेरी यादें चाहे मिटा दो लेकिन।

कोई कभी न कभी मेरे नाम सा आता तो होगा।।

तुमने बेदर्दी से जला दिए ख़त मेरे और मैं समझा।

तुम्हें इश्क मुहब्बत का कायदा आता तो होगा।।

ये ओर बात है कि ये शहर है सादगी वाला लेकिन

इसे भी हुनर फरेब चालाकी का आता तो होगा।।

-मनोहर चमोली ‘मनु’

2 टिप्‍पणियां:

  1. dil ko chu lene wali gazal, write more,
    besak aaj koi na pahachane, par ek din naam apka jarur hoga, manjil hai door to kiya, rasta bhe ke din aasan hoga

    उत्तर देंहटाएं

यहाँ तक आएँ हैं तो दो शब्द लिख भी दीजिएगा। क्या पता आपके दो शब्द मेरे लिए प्रकाश पुंज बने। क्या पता आपकी सलाह मुझे सही राह दिखाए. मेरा लिखना और आप से जुड़ना सार्थक हो जाए। आभार! मित्रों धन्यवाद।